Kitna hasin Wada ye kiya Khudawand ne

KITNA HASIN WADA YE KIYA KHUDAWAND NE

कितना हसीन वादा ये किया खुदावंद ने

कितना हसीन वादा ये
किया खुदावंद ने
कितना हसीन वादा ये
किया खुदावंद ने
जहाँ दो या तीन जमा हों
मैं हूँ हाज़िर उनमें
जहाँ दो या तीन जमा हों
मैं हूँ हाज़िर उनमें

तुझे अकेला ना छोड़ूं मैं
रूह अपनी भेजूँ
तुझे अनाथ भी, ना छोड़ूँ
एक मददगार भेजूँ
यीशु के सिवा ये, बात कही किसने
जहाँ दो या तीन

दस्तक वो देता है चाहे
हर दिल में आना
भरता उसको रूह से अपनी
जिसने उसे जाना
जिसका बने है माली वो
कलियाँ लगे खिलने
जहाँ दो या तीन

Kitana hasin Wada ye kiya Khudaavand ne

Kitana hasin Wada ye
kiya Khudaavand ne
kitana haseen vaada ye
kiya Khudaavand ne
jahaan do ya teen jama hon
main hoon haazir unamen
jahaan do ya teen jama hon
main hoon haazir unamen

Tujhe akela na chhodoon main
rooh apanee bhejoon
tujhe anaath bhee, na chhodoon
ek madadagaar bhejoon
yeeshu ke siva ye, baat kahee kisane
jahaan do ya teen

Dastak vo deta hai chaahe
har dil mein aana
bharata usako rooh se apanee
jisane use jaana
jisaka bane hai maalee vo
kaliyaan lage khilane
jahaan do ya teen

Kya too maanda aur dilageer hai 284

क्या तू मांदा और दिलगीर है

क्या तू मांदा और दिलगीर है
सख्त मुसीबत से ?
“मुझ पास आ” एक कहता
तुझ से, “राहत ले ।”

क्या वह कुछ निशान भी रखता,
जो वह हादी हो ?
“हाथ और पांव में देख तू उसके,
जख़्मों को “

क्या वह कोई ताज भी रखता
मानिन्द शाहनशाह ?
“हां, एक ताज है उसके सिर पर,
कांटों का ।”

“गर मैं उसके पीछे चलूं,
हिस्सा मिले क्या ?”
“दुख मुसीबत, रंज और मेहनत,
और ईजा ।”

गर हमेशा पास में रहूं,
आखिर क्या मिले ?
“राहत कामिल और पार होगे,
यरदन से ।”

गर उसके नजदीक में जाऊं
क्या वह रोकेगा ?
“हरगिज नहीं गो सब आलम
हो फना ।”

क्या मैं उसके पीछे चल के,
बरकत पाऊंगा ?
रूहें सब और पाक फिरिश्ते
कहते : “हां ।

Kya too maanda aur dilgeer hai

Kya too maanda aur dilgeer hai
sakht musibat se ?
“mujh paas aa” ek kahata
tujh se, “raahat le .”

Kya vah kuchh nishaan bhee rakhata,
jo vah haadee ho ?
“haath aur paanv mein dekh too usake,
jakhmon ko “

Kya vah koee taaj bhee rakhata
maanind shaahanshaah ?
“haan, ek taaj hai usake sir par,
kaanton ka .”

“Gar main usake peechhe chaloon,
hissa mile kya ?”
“dukh museebat, ranj aur mehanat,
aur eeja .”

Gar hamesha paas mein rahoon,
aakhir kya mile ?
“raahat kaamil aur paar hoge,
yaradan se .”

Gar usake najadeek mein jaoon
kya vah rokega ?
“haragij nahin go sab aalam
ho phana .”

Kya main usake peechhe chal ke,
barakat paoonga ?
roohen sab aur paak phirishte
kahate : “haan .

Kya ho maande kya ho dil shikasta 285

क्या हो मांदे, क्या हो दिल शिकस्ता ?

क्या हो मांदे, क्या हो दिल शिकस्ता ?
यीशु से कह दो, यीशु से कह दो;
क्या हो आजिज, क्या है गम का रास्ता ?
यीशु से जाके कहो,
यीशु से कह दो, यीशु से कह दो
वह ही है दोस्त, मोमिनो;
गर तुम न रखते ऐसा दोस्त
ओ भाई, यीशु से जाके कहो

क्या तुम रोते, क्या है जख्म इ कारी
यीशु से कह दो, यीशु से कह दो;
क्या गुनाह का बोझ है दिल पर भारी ?
यीशु से जाके कहो ।

क्या तुम डरते, क्या है बादल गालिब ?
यीशु से कह दो, यीशु से कह दो,
क्या तुम भेद को जानने के हो तालिब ?
यीशु से जाके कहो ।

क्या तुम दिल में मौत के ख्याल से डरते ?
यीशु से कह दो, यीशु से कह दो;
क्या तुम खेत में ठण्डी सांसें भरते ?
यीशु से जाके कहो ।

Kya ho maande, kya ho dil shikasta?

Kya ho maande, kya ho dil shikasta?
Yeshu se kah do, Yeshu se kah do;
kya ho aajij, kya hai gam ka raasta ?
Yeshu se jaake kaho,
Yeshu se kah do, Yeshu se kah do
vah hee hai dost, momino;
gar tum na rakhate aisa dost
o bhaee, Yeshu se jaake kaho

Kya tum rote, kya hai jakhm i kaaree
Yeshu se kah do, Yeshu se kah do;
kya gunaah ka bojh hai dil par bhaaree ?
Yeshu se jaake kaho .

Kya tum darate, kya hai baadal gaalib ?
Yeshu se kah do, Yeshu se kah do,
kya tum bhed ko jaanane ke ho taalib ?
Yeshu se jaake kaho

Kya tum dil mein maut ke khyaal se darate ?
Yeshu se kah do, Yeshu se kah do;
kya tum khet mein thandee saansen bharate ?
Yeshu se jaake kaho

Karte hai aaj hum

KARTE HAIN AAJ HUM AAPKO SWAGATAM

करते हैं आज हम आपको स्वागतम

करते हैं आज हम आपको स्वागतम

अपने पूरे मन दिल और खुशी से
आज आपका है दिन यह समा आपका
आज आपके लिए है हमारी हर दुआ
करते हैं स्वागतम

देखो हर दिशाओं में पंछी चहक रहे
हर चहक में है नाम सिर्फ आपका
इन फूलों में इन कलियों में
है सुगंध है महक बस आपका
आज हर्षित मन है उल्लसित मन
आपको पाकर आपको पाकर
करते हैं स्वागतम

आज दिल से है दुआ करते हैं कामना
आगे बढ़ते जाएं हर कदम चूमे हर गगन
इन फूलों से इन दुआओं से
करते हैं कामना सिर्फ आपके लिए
आज हर्षित मन है उल्लसित मन
आपको पाकर आपको पाकर
करते हैं स्वागतम

Karate hain aaj ham aapako svaagatam

Karate hain aaj ham aapako svaagatam

apane poore man dil aur khushee se

aaj aapaka hai din yah sama aapaka
aaj aapake lie hai hamaaree har dua
karate hain svaagatam

Dekho har dishaon mein panchhee chahak rahe
har chahak mein hai naam sirph aapaka
in phoolon mein in kaliyon mein
hai sugandh hai mahak bas aapaka
aaj harshit man hai ullasit man
aapako paakar aapako paakar
karate hain svaagatam

Aaj dil se hai dua karate hain kaamana
aage badhate jaen har kadam choome har gagan
in phoolon se in duaon se
karate hain kaamana sirph aapake lie
aaj harshit man hai ullasit man
aapako paakar aapako paakar
karate hain svaagatam

Kafara mera tu hi hai

KAFFARA MERA TU HI HAI

क़फ़्फ़ारा मेरा तू ही हैं

क़फ़्फ़ारा मेरा तू ही हैं
सहारा मेरा तू ही हैं -x2
मैं तेरी राहों पर चलता रहूँ
मेरे खुदा -x2
मेरे खुदा…मेरे खुदा…. -x4

फ़िदिया मेरे पापों का तू ,
छुपने की तू ही जगह-x2
राहों की तू ही रौशनी ,
रूह जां बदन की शिफ़ा -x2
मस्सा से मुझे दे तू
लहूँ से मुझे धो दे तू -x2

मैं तेरी राहों पर चलता रहूँ …..

तेरे सिवा कोई नहीं ,
जख्मो को जो भर सके -x2
अपने परों में तू छुपा ,
बाँहों में ले ले मुझे -x2
तसल्ली तेरी बातों में ,
तेरे ही छिदे हाथो में -x2

मैं तेरी राहों पर चलता रहूँ ……

Kaffaara mera tu hi hai

Qaffaara mera tu hi hai
sahaara mera too hi hai -x2
main teri raahon par
chalta rahoon mere Khuda -x2
mere khuda…mere Khuda…. -x4

Fidiya mere paapon ka too ,
chhupane kee too hee jagah-x2
raahon kee too hee raushanee ,
rooh jaan badan kee shifa -x2
massa se mujhe de too
lahoon se mujhe dho de too -x2

main teri raahon par chalta rahoon …..

Tere siva koee nahin ,
jakhmo ko jo bhar sake -x2
apane paron mein too chhupa ,
baanhon mein le le mujhe -x2
tasallee teri baaton mein ,
tere hi chhide haatho mein -x2

main teri raahon par chalta rahoon ……

Karna kshama kisi ko

KARNA KSHAMA KISI KO

करना क्षमा किसी को

करना क्षमा किसी को
है नाम आदमी का
इससे बड़ा नहीं है
कुछ काम जिंदगी का

करना मदद खुशी से
है आपको हमेशा
दुखियों की सेवा करना
है काम बंदगी का

हर बार कोई मांगे
है आप उसको देते
देना तो दिल से देना
यह काम है खुशी का

गुस्सा बुरा है नफ़रत
लाचार बेबसों से
होगा भला तुम्हारा
कर दो भला किसी का

Karana kshama kisi ko

Karana kshama kisi ko
hai naam aadamee ka
isase bada nahin hai
kuchh kaam jindagee ka

Karana madad khushee se
hai aapako hamesha
dukhiyon kee seva karana
hai kaam bandagee ka

Har baar koee maange
hai aap usako dete
dena to dil se dena
yah kaam hai khushee ka

Gussa bura hai nafarat
laachaar bebason se
hoga bhala tumhaara
kar do bhala kisee ka